कांग्रेस अध्यक्ष बने राहुल गांधी: पहली स्पीच में मोदी सरकार पर जमकर हमला, बोले-देश में आग लगा रही बीजेपी

rahul-gandhi-1-1-620x400

rahul-gandhi-1-1-620x400राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद की आधिकारिक तौर पर कमान संभाल ली है। नई दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित एक समारोह में शनिवार को राहुल पार्टी के नए अध्यक्ष बन गए। इस मौके पर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और उनकी मां सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, बहन प्रियंका गांधी और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा समेत कांग्रेस के सभी दिग्गज नेता मौजूद थे। राहुल गांधी को सर्टिफिकेट देकर आधिकारिक तौर पर अध्यक्ष घोषित किया गया। पद संभालने के बाद कार्यकर्ताओं को दिए भाषण में राहुल गांधी ने पहला निशाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा। राहुल ने कहा कि कांग्रेस भारत को 21वीं सदी में लेकर आई और पीएम नरेंद्र मोदी हमें मध्यकाल में ले जा रहे हैं। बीजेपी पर प्रहार करते हुए राहुल ने कहा कि एक बार आग लगने के बाद उसे बुझाना बहुत मुश्किल होता है। बीजेपी ने पूरे देश में आग लगा दी। राहुल ने कहा कि वो आग लगाते हैं, हम आग बुझाते हैं।

राहुल ने कहा कि अगर कोई बीजेपी को यह करने से रोक सकता है तो वह हैं कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता। हम कांग्रेस को ग्रैंड ओल्ड पार्टी एंड यंग पार्टी बनाएंगे और गुस्से की राजनीति के खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे। राहुल ने कहा कि हम बीजेपी को भाई-बहन ही मानते हैं, लेकिन हम उनसे सहमत नहीं हैं। बीजेपी आवाज को कुचल देती है, लेकिन हम बोलने का मौका देते हैं। इस मौके पर मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी ने भी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

यह बोले मनमोहन-सोनिया: मनमोहन सिंह ने कहा, ”अब जबकि सोनिया जी ने पार्टी की कमान राहुल गांधी को सौंप दी है तो मैं सोनिया जी को उनके 19 साल के नेतृत्व के लिए सलाम करता हूं। राहुल गांधी पार्टी में नई समर्पण और प्रतिबद्धता लाए हैं”। मुझे उम्मीद है कि पार्टी सफलता की नई ऊंचाइयों को छुएगी। इसके बाद सोनिया गांधी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘आज मैं आखिरी बार कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर आपको संबोधित कर रही हूं। एक नए दौर की उम्मीद आपके सामने है।’

सोनिया ने यहां सास इंदिरा गांधी और पति राजीव गांधी को भी याद किया। उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी ने मेरे साथ बेटी की तरह व्यवहार किया और मैंने भारत के बारे में उनसे काफी कुछ सीखा। सोनिया ने कहा कि 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या कर दी गई और मुझे लगा कि मैंने अपनी मां खो दी है। इस हादसे ने मेरी जिंदगी बदलकर रख दी। सोनिया ने कहा कि हम डरने और झुकने वालों में से नहीं हैं। हमारा संघर्ष इस देश की रुह के लिए संघर्ष है। हम पीछे नहीं हटेंगे।

बता दें कि अब तक राहुल गांधी कांग्रेस उपाध्यक्ष का पद संभाल रहे थे। सोमवार दोपहर राहुल को निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया था। कांग्रेस नेता मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने बताया कि राहुल के पक्ष में 89 नामांकन प्रस्ताव मिले थे। सभी के सभी वैध मिले। रामचंद्रन ने कहा कि चूंकि एक ही प्रत्याशी का नामांकन मिला, इसलिए राहुल गांधी को इंडियन नैशनल कांग्रेस का अध्यक्ष चुन लिया गया। गौरतलब है कि राहुल की मां सोनिया गांधी पिछले 19 सालों से पार्टी की कमान संभाल रही थीं। बीते कुछ वक्त से उनकी तबीयत खराब चल रही थी।

Related posts

Leave a Comment