जम्मू-कश्मीर को लेकर सेना प्रमुख बिपिन रावत का बयान, मानवाधिकार पर यकीन, लेकिन हालात के मुताबिक होगी कार्रवाई

pti-photo-army-chief-bipin-rawat_650x400_61483414466नई दिल्ली: कश्मीर के बिगड़ते हालात पर आर्मी चीफ़ जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि कश्मीरी नौजवानों को गुमराह किया जा रहा है और हमें लोगों की ज़िंदगी की परवाह है और ये सुनिश्चित किया जाएगा कि मानवाधिकार का उल्लंघन न हो. हम पत्थरबाज़ी की समस्या से जल्द निपटेंगे. सेनाध्यक्ष ने आगे कहा कि मैं मानवाधिकार में यक़ीन रखता हूं और हालात के मुताबिक ही सेना कार्रवाई कर रही है. साथ ही कहा कि दक्षिण कश्मीर के कुछ हिस्से में गड़बड़ी है. वहां स्थिति पर जल्द नियंत्रण पा लिया जाएगा. हालात को क़ाबू में करने के लिए आवश्यक क़दम उठाए जा रहे हैं. सेना प्रमुख का बयान ऐसे समय में आया है जब शुक्रवार को ही कश्‍मीर के अनंतनाग जिले में आतंकियों द्वारा घात लगाकर किये गये हमले में जम्मू-कश्मीर पुलिस के छह पुलिसकर्मी शहीद हो गए. आतंकियों ने ये बड़ा हमला दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के अच्छाबल में किया. जब पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी से वापस शाम सात बजे सुमो में लौट रहे थे तब घात लगाकर बैठे आतंकियों ने पुलिस पेट्रोल टीम पर हमला बोला और अंधाधुंध फायरिंग कर 6 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी. वहीं शुक्रवार को सेना ने कुलगाम के अरवानी में तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया, जिनमें से एक लश्कर आतंकी जुनैद मट्टू भी है. ऑपेशन के दौरान यहां स्थानीय लोगों ने सुरक्षाबलों पर हजारों की तादाद में पत्थरबाजी की.

Related posts

Leave a Comment