तो क्या बंद हो जाएगी आपकी jio सर्विस, मुश्किल में फंसी कंपनी

images-4

images-4 एयरटेल के विरोध के बाद मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो की निर्धारित 90 दिन के बाद भी फ्री कॉलिंग और डाटा सेवाओं पर तलवार लटकने लगी है। मुफ्त सेवाएं जारी रखने पर भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने जियो को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। ट्राई ने पूछा है कि कंपनी यह बताए कि फ्री सेवाओं को आगे बढ़ाने को नियमों का उल्लंघन क्यों न माना जाए क्योंकि प्रमोशन ऑफर्स की समय सीमा 90 दिन होती है। एक अंग्रेजी समाचार पत्र में छपी खबर के अनुसार, एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कंपनी से पूछा गया है कि दोनों प्लांस अलग कैसे हैं? इसके बारे में एक सप्ताह पहले ही पत्र भेजा जा चुका है। उनसे किसी भी समय जवाब आने की उम्मीद है। हमलोग इस मामले को गंभीरता से देख रहे हैं।
जियो को 20 दिसंबर को नोटिस भेजा गया था, उसे पांच दिन के अंदर जवाब देने को कहा गया है। साथ ही कंपनी से पूछा गया है कि वह स्पष्ट करें कि उनके प्रमोशनल स्कीम को दूसरी कंपनियों के लिए हानि पहुंचाने वाला क्यों नहीं माना जाना चाहिए?
रिलायंस जियो ने 1 दिसंबर को ‘हैपी न्यू ईयर ऑफर’ के तहत वर्तमान और नए ग्राहकों के लिए फ्री डाटा और कॉलिंग ऑफर पेश किया था। इससे पहले कंपनी ने सितंबर में ‘वेलकम’ ऑफर के तहत फ्री डाटा और कॉलिंग ऑफर दिया था, जो संभवतः 3 दिसंबर को खत्म होने वाला था।
अधिकारी कहना है कि प्रारंभिक जांच को देखते हुए ‘प्रथम दृष्टया’ ऐसा लगता है कि डाटा ऑफर में मामूली बदलाव करके पूराने प्रमोशनल ऑफर को फिर से पेश किया गया है।
हालांकि कंपनी ने सात दिसंबर को ट्राई को सूचित किया था कि दूसरा प्रमोशनल ऑफर नए ग्राहकों के लिए 4 दिसंबर से तीन महीने के लिए उपलब्ध होगा। इसके साथ ही पुराने ग्राहकों को भी नए ऑफर का लाभ मिलेगा।
जियो के ऑफर पर एयरटेल ने जताई ये आपत्ति
भारती एयरटेल ने शुक्रवार को रिलायंस जियो को निर्धारित 90 दिन के बाद भी मुफ्त सेवाओं की पेशकश जारी रखने की अनुमति देने के ट्राई के निर्णय के खिलाफ दूरसंचार विवाद निपटान एवं अपीलीय न्यायाधिकरण (टीडीसैट) का दरवाजा खटखटाया था।
कंपनी ने अपनी याचिका में ट्राई पर आरोप लगाया था कि नियामक उल्लंघन को लेकर ‘मूकदर्शक’ बना हुआ है। टीडीसैट के समक्ष 25 पन्नों की अपनी याचिका में एयरटेल ने ट्राई को यह सुनिश्चित करने का निर्देश देने का अनुरोध किया थस कि जियो 31 दिसंबर के बाद मुफ्त वॉयस और डाटा योजना उपलब्ध नहीं करा सके।
एयरटेल ने आरोप लगाया कि ट्राई के शुल्क आदेश का मार्च 2016 से लगातार उल्लंघन हो रहा है और इससे उसे नुकसान हो रहा है। उसके नेटवर्क पर असर पड़ रहा है क्योंकि जियो के मुफ्त कॉल के कारण कॉल की संख्या काफी बढ़ गयी है।
इस पर ट्राई ने कहा था कि उसे निर्णय के लिए 10 दिन का समय चाहिए। टीडीसैट ने ट्राई को अगली सुनवाई के दिन इस बारे में अपना निर्णय लेकर आने को कहा। मामले की अगली सुनवाई 6 जनवरी 2017 को होगी।

Related posts

Leave a Comment